गणेश भजन

गणपति वंदन

गणपति जगवन्दाना | Ganpati Jagvandana

वक्रतुण्ड महाकाय सूर्यकोटि समप्रभ : |

निर्विघ्नं कुरु में देव सर्वकार्यषु सर्वदा | |

गाईये गणपति जगवन्दन |

शंकर सुवन भवानी नन्दन | |

गाईये गणपति जग……

रिद्धी -सदन , गजबदन , विनायक |

कृपा – सिन्धु , सुन्दर , सबलायक | |

गाईये गणपति जग……
मोदक -प्रिय -मुदन-मंगलदाता |

विधा -वारिधि बुधि-विधाता | |

गाईये गणपति जग……

मांगत ‘तुलसीदास’ कर जोरी |

बसहु राम -सिय मानस मोरे | |

गाईये गणपति जग……

Leave a Comment