राजस्थानी भजन

लै लो लै लो बिहारी घनश्याम रे दही हमारो लेलो | le lo le lo bihari ghanshyam re dahi hamaro le lo

लै लो लै लो बिहारी घनश्याम रे दही हमारो लेलो | le lo le lo bihari ghanshyam re dahi hamaro le lo

लै लो लै लो बिहारी घनश्याम रे दही हमारो लेलो

कोरी –कोरी कुलड़ी में दहियो जमा यो , पानी न गालियों एकबुन्द रे दही हमारो लेलो ||1||

कौन गाँव री तू है गुजरिया ,क्या है तुम्हारे नाम रे ||2||

बरसाने री मे हु गुजरिया , राधा हमारो नाम रे ||3||

तेरे दही का मोल क्या है , तेरी सूरत अनमोल रे ||4||

मेरी सूरत का नाम न लीजे , मेरा गुजर लठ्बाज रे ||5||

चन्द्र सखी भज बाल कृष्ण छवि , चरण कमल बलिहारी ||6||

लै लो लै लो बिहारी घनश्याम रे दही हमारो ले लो

Leave a Comment