मंत्र-श्लोक-स्त्रोतं

माँ कूष्मांडा के मंत्र

ध्यान

वन्दे वांछित कामर्थे चन्द्रार्घकृत शेखराम्।

सिंहरूढा अष्टभुजा कुष्माण्डा यशस्वनीम्॥

भास्वर भानु निभां अनाहत स्थितां चतुर्थ दुर्गा त्रिनेत्राम्।

कमण्डलु चाप, बाण, पदमसुधाकलश चक्र गदा जपवटीधराम्॥

पटाम्बर परिधानां कमनीया कृदुहगस्या नानालंकार भूषिताम्।

मंजीर हार केयूर किंकिण रत्‍‌नकुण्डल मण्डिताम्।

प्रफुल्ल वदनां नारू चिकुकां कांत कपोलां तुंग कूचाम्।

कोलांगी स्मेरमुखीं क्षीणकटि निम्ननाभि नितम्बनीम् ॥

इसे भी पढ़ें :- नवरात्रि 2017: व्रत में भूलकर भी न करें ये कम

स्तोत्र

दुर्गतिनाशिनी त्वंहि दारिद्रादि विनाशिनीम्।

जयंदा धनदां कूष्माण्डे प्रणमाम्यहम्॥

जगन्माता जगतकत्री जगदाधार रूपणीम्।

चराचरेश्वरी कूष्माण्डे प्रणमाम्यहम्॥

त्रैलोक्यसुंदरी त्वंहि दु:ख शोक निवारिणाम्।

परमानंदमयी कूष्माण्डे प्रणमाम्यहम्॥

इसे भी पढ़ें :- हार्ट अटैक से बचने का आयुर्वेदिक इलाज

कवच

हसरै मे शिर: पातु कूष्माण्डे भवनाशिनीम्।

हसलकरीं नेत्रथ, हसरौश्च ललाटकम्॥

कौमारी पातु सर्वगात्रे वाराही उत्तरे तथा।

पूर्वे पातु वैष्णवी इन्द्राणी दक्षिणे मम।

दिग्दिध सर्वत्रैव कूं बीजं सर्वदावतु॥

इसे भी पढ़ें :- डाइबटीज का बहुत ही सरल आयुर्वेदिक उपचार

उपासना मंत्र

सुरासम्पूर्णकलशं रूधिराप्लुतमेव च।

दधाना हस्तपद्माभ्यां कुष्मांडा शुभदास्तुमे।।

इसे भी पढ़ें :- 

नवदुर्गा रक्षा मंत्र

महा लक्ष्मी को प्रसन्न करने की अचूक विधि और मंत्र

विजयादशमी : बुराई पर अच्छाई की विजय का पर्व

जानिए शिवपुराण के अनुसार धन लाभ यश प्राप्ति के उपाय

विष्णु | भगवान विष्णु | नारायण

नवरात्रि 2017: व्रत में भूलकर भी न करें ये कम

माता दुर्गा का चौथा अवतार (4th Form of Navdurga), माँ कूष्मांडा का मंत्र (Mata Kushmanda Mantra), नवरात्र के चौथे दिन ऐसे करें ‘माँ कूष्मांडा, maa-kushmanda-story-and-mantra, Maa Kushmanda story and mantra, Kushmanda, Goddess Kushmanda, Devi, maa kushmanda mantra in hindi, maa kushmanda wallpaper, maa kushmanda mantra, maa kushmanda aarti in hindi, maa kushmanda katha, maa kushmanda hd wallpaper, maa kushmanda katha in hindi, कुष्मांडा देवी मंत्र, कूष्माण्डा देवी, माँ कुष्मांडा मंत्र, Maa Kushmanda, Story, Mantra. Maa Kushmanda,

Leave a Comment